Showing posts with label इस्लामपुर. Show all posts
Showing posts with label इस्लामपुर. Show all posts

Tuesday, October 24, 2017

MAGADH EXPRESS


मगध एक्सप्रेस -  इस्लामपुर से नईदिल्ली 

इस यात्रा को शुरू से पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

       राजगीर से दोपहर दो बजे दानापुर इंटरसिटी चलती है, मुझे इसी ट्रेन से वापस पटना लौटना था क्योंकि मेरा रिजर्वेशन आज शाम को मगध एक्सप्रेस में था जो शाम को साढ़े छः बजे पटना से रवाना होगी। मैं सही वक़्त पर राजगीर स्टेशन पहुँच गया और मेरे आते ही ट्रेन भी चल पड़ी, मुझे इस सफर में बस यही अफ़सोस रहा कि मैं नालंदा का विश्व विध्यालय नहीं देख पाया जिसे मोहम्मद गौरी के सेनापति बख़्तियार ख़िलजी ने नष्ट कर दिया था, परन्तु कोई बात नहीं नालंदा अभी मेरी यात्राओं की लिस्ट में शामिल रहेगा। 

     एक शानदार ऐतिहासिक धरती पर सफर करने और यहाँ के नज़ारे मुझे दुबारा यहाँ आने पर आकर्षित कर रहे थे। बख्तियारपुर पहुंचकर मुझे लगने लगा था कि कहीं मगध एक्सप्रेस छूट न जाए पर मैं गलत था पटना स्टेशन पहुँचने पर पता चला कि मगध तो अभी दिल्ली से आई है पहले ये इस्लामपुर जायेगी और वहां से वापस आयेगी तब दिल्ली की ओर जायेगी। फिर भी मैं अपनी उसी सीट पर जाकर बैठ गया जो मेरी पटना से दिल्ली तक बुक थी। 

     रात होते होते ट्रेन इस्लामपुर पहुंची, यह पटना से आगे एक छोटा और आखिरी स्टेशन है, मगध एक्सप्रेस पहले पटना तक ही चलती थी पर अत्यधिक ट्रैफिक हो जाने की वजह से रेलवे ने इसे इस्लामपुर तक कर दिया, नॉर्थन रेलवे की यह ट्रेन नईदिल्ली से आकर वापस नईदिल्ली चली जाती है। पटना से इस्लामपुर तक यह ट्रेन  लगभग पूरी खाली ही जाती है। मुझे इस सफर के दौरान इस्लामपुर तक कोई भी TTE टिकट पूछने नहीं आया। मैं फिर से राजगीर के पास ही था। इस्लामपुर से रात ग्यारह बजे ट्रेन दिल्ली के लिए रवाना हुई और मैं मजे से अपनी सीट पर सो गया। 

     सुबह जब आँख खुली तो देखा मैं उत्तर प्रदेश में हूँ मिर्ज़ापुर आने वाला है। मुझे लगा था मैं दोपहर तक पहुँच जाऊँगा यह ट्रेन अपने समय काफी लेट चल रही थी। शाम होते होते मैं टूंडला पहुंचा, मुझे मथुरा जाना था और यह अलीगढ होते हुए सीधे दिल्ली जाएगी, इसलिए मैं टूंडला ही उतर गया और पीछे आ रही तूफ़ान एक्सप्रेस से रात को बारह बजे मथुरा पहुंचा। स्टेशन के बारे मेरे दो भाई दिनेश और विनीत मुझे यहाँ मिले और हम तीनों ही घर की तरफ रवाना हो गए। पीछे से आते महेंद्र मामाजी अपनी बाइक पर हम तीनों को घर ले आये। 

                                                    बिहार यात्रा समाप्त 

इस्लामपुर जाते हुए सुधीर उपाध्याय 

एकंगरसराय रेलवे स्टेशन 

इस्लामपुर रेलवे स्टेशन 

इस्लामपुर रेलवे स्टेशन 

इस्लामपुर रेलवे स्टेशन और सुधीर उपाध्याय 


बिहार यात्रा की अन्य यात्रायें : -

यात्रा क्र. यात्रा विवरण  यात्रा दिनाँक यात्रा विशेष 
20 अक्टूबर 2017 
बिहार का ऐतिहासिक महत्त्व 
21 अक्टूबर 2017 
आगरा कोलकाता एक्सप्रेस 
22 अक्टूबर 2017 
सासाराम में शक्तिपीठ 
22 अक्टूबर 2017 
एक महान शासक की समाधी 
22 अक्टूबर 2017 
डेहरी से रोहतास 
23 अक्टूबर 2017 
गया, पटना और राजगीर 
23 अक्टूबर 2017 
प्राचीन मगध की राजधानी 
अजातशत्रु का किला 23 अक्टूबर 2017 मगध का प्राचीन किला 
ब्रह्मकुंड - गर्म पानी का कुंड 23 अक्टूबर 2017 गंधक युक्त औषधीय जल 
10 वैभारगिरि पर्वत और सप्तपर्णी गुफा 23 अक्टूबर 2017 प्रथम बौद्ध संगीति का आयोजन 
11 जरासंध और जरादेवी मंदिर 23 अक्टूबर 2017 महाभारत कालीन मगध सम्राट 
12 मनियार मठ 23 अक्टूबर 2017 एक बौद्ध कालीन कूप 
13 सोनभंडार या स्वर्ण भंडार गुफा 23 अक्टूबर 2017 बिम्बिसार का खजाना 
14 बिम्बिसार की जेल और जीवक का दवाखाना 23 अक्टूबर 2017 मगध के प्राचीन स्थल 
15 विश्व शांति स्तूप - राजगीर 23 अक्टूबर 2017 गिद्धकूट पर्वत पर बौद्ध स्थल